Breaking News

आधार के जरिए अपना फिंगरप्रिंट स्कैन करने में समस्या, लोगों को राशन और बैंक अकाउंट आदि कामो में भी हो रही है दिक्कत

लखनऊ /नई दिल्ली:  सरकार की कई योजनाओं में आधार लागू किया गया है. यहां तक कि निजी कंपनियां भी अपनी सेवाओं के लिए आधार को ही प्रयोग में ला रही हैं. आसानी से प्रयोगकर्ता का डाटा मिला जाता है और इसकी पुष्टि की जरूरत नहीं रह जाती है. इसी के आधार पर योजनाओं का लाभ कार्ड धारक को मिल रहा है और नए सिम भी कंपनियां दे रही हैं.

लेकिन, अब शिकायतें भी आने लगी हैं. आधार के जरिए लोगों को अपना फिंगरप्रिंट स्कैन करने में समस्या आ रही हैं. लोगों को नया सिम खरीदने, राशन का सामान लेने में और बैंक अकाउंट आदि. खोलने में दिक्कतें हो रही हैं. लगातार बढ़ती समस्या के गंभीर होने से पहले आधार जारी करने वाली संस्था यूनिक आईडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (UIDAI) ने जनता को तरीके सुझाए हैं जिससे समस्या का समाधान पाया जा सकता है.  यूआईडीएआई (UIDAI) ने कहा है कि लोग ओटीपी, आंखों की पुतलियों और स्मार्ट क्यूआर कोड का इस्तेमाल करके भी वेरिफिकेशन कर सकते हैं.

बता दें कि यूआईडीएआई ने ट्विटर अकाउंट पर पोस्ट में कहा है कि नई सुविधा आधार धारकों को बिना वेरीफिकेशन या सत्यापन की प्रक्रिया में अपना असली 12 अंकों का आधार नंबर दिए बिना एक वीआईडी नंबर देने की इजाजत देगी. 12 अंकों का आधार नंबर देने से पर्सनल जानकारी लीक होने का खतरा भी बना रहता है और इसे लेकर आधार की काफी आलोचना हुई और मामला सुप्रीम कोर्ट में चला गया. लेकिन अब UIDAI द्वारा सुझाए गए 3 आसान रास्ते को फॉलो करके लोग अपना 16 अंकों वाला वर्चुअल आधार नंबर जेनरेट कर सकेंगे.

इस वर्चुअल नंबर को जेनरेट करने के बाद लोगों को अपना ओरिजनल आधार नंबर किसी को देना नहीं होगा. इस वर्चुअल नंबर का इस्तेमाल बैंक अकाउंट खोलने, सरकारी योजनाओं के लिए, पासपोर्ट बनवाने के लिए और नई बीमा पॉलिसी खरीदने के लिए किया जा सकेगा.

इसके लिए सबसे पहले लोगों को आधार की वेबसाइट https://uidai.gov.in/ पर जाना होगा. इसके बाद होम पेज पर नीचे की तरफ आधार सर्विस टैब के अंदर वीआईडी जेनरेटर ऑप्शन पर क्लिक करना होगा. क्लिक करने के बाद लोगों को अपना आधार नंबर, कैप्चा कोड फीड करना होगा और सेंड ओटीपी पर क्लिक करना होगा. इसके बाद आधार पर रजिस्टमोबाइल नंबर पर ओटीपी कोड आएगा.

ओटीपी सबमिट करने के बाद उपयोगकर्ता के पास दो तरह के विकल्प आएंगे. पहला नई वीआईडी जेनरेट करने के लिए और दूसरा पहले से जेनरेट की गई वीआईडी को वापस पाने के लिए. दोनों में से किसी भी विकल्प को चुना जा सकता है. इसके बाद रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर वीआईडी कोड एसएमएस के जरिए पहुंच जाएगा.

Loading...

Check Also

जन्मदिन पर सरदार सरोवर बांध जाएंगे PM मोदी, करेंगे पूजा-अर्चना

अहमदाबाद : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 17 सितंबर को अपने जन्मदिन के अवसर पर सरदार सरोवर ...