Breaking News

अपने चिकित्सकीय कौशलता के श्रेष्ठ मानदंडों को निभाते हुए सैन्य चिकित्सकों की शानदार परंपरा को बनाये रखें : ब्रिगेडियर एम के गर्ग

अशोक यादव / लखनऊ छावनी :  भारतीय सेना में सेवारत सेना चिकित्सा कोर के चिकित्सकों के लिए आयोजित मेडिकल आफीसर्स बेसिक कोर्स [एमओबीसी]-219 पूरा होने पर यहाॅ लखनऊ छावनी स्थित सेना चिकित्सा कोर केन्द्र एवं काॅलेज के अधिकारी प्रशिक्षण कालेज [ओटीसी] में एक भव्य ‘रस्मी-परेड’ आयोजित की गई। सात सप्ताह तक चले इस आधारभूत पाठ्यक्रम में सशस्त्र चिकित्सा सेवाओं  के कुल 123 युवा मेडिकल एवं दंत सैन्य चिकित्साधिकारियों ने भाग लिया जिनमें 35 महिला सैन्य चिकित्साधिकारी भी शामिल थीं । इस अवसर पर आयोजित एक आकर्षक ‘रस्मी परेड’ का निरीक्षण सेना चिकित्सा कोर केन्द्र एवं काॅलेज के आॅफीसर्स प्रशिक्षण काॅलेज [ओटीसी] के कार्यकारी सेनानायक एवं मुख्य अनुदेशक ब्रिगेडियर एम के गर्ग ने किया तथा मार्च-पास्ट की सलामी ली।
इस अवसर पर कैप्टन ज्योति मिश्रा को पाठ्यक्रम ‘बेस्ट ओवरआॅल अधिकारी’ घोषित किया गया तथा ‘बेस्ट आॅफीसर-इन-फिल्ड इवेन्ट्स’ के लिए इन्हें ‘मेजर  लैशराम ज्योतिन सिंह अशोक चक्र स्मृति ट्रॉफी ’ से सम्मानित किया गया।उपरोक्त जानकारी देते हुए मध्य कमान रक्षा प्रवक्ता गार्गी मालिक सिन्हा ने बताया कि युवा सैन्य अधिकारियों को संबोधित करते हुए ब्रिगेडियर एम के गर्ग ने उनका आह्वान किया कि वे अपने चिकित्सकीय कौशलता के श्रेष्ठ मानदंडों को निभाते हुए सैन्य चिकित्सकों की शानदार परंपरा को बनाये रखें। उन्होंने इस पाठ्यक्रम  में सर्वाेत्कृष्ट  प्रदर्शन करनेवाले अधिकारियों को बधाई दी। ब्रिगेडियर गर्ग ने इस पाठ्यक्रम में युवा सैन्यधिकारियों की अपार सफलता एवं उपलब्धियों पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि सात सप्ताह तक चले इस पाठ्यक्रम में अधिकारियों को अपनी उच्च व्यावसायिक कार्यदक्षता को निखारने का अवसर मिला।
इस अवसर पर सशस्त्र बल चिकित्सा सेवा के वरिष्ठ अधिकारियों सहित पाठ्यक्रम में शामिल युवा चिकित्सा सैन्यधिकारियों के परिवारीजन बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

Loading...

Check Also

सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर नहीं थम रहा विवाद, हिंसा और प्रदर्शन के बीच मुख्य पुजारी ने महिलाओं से मंदिर न आने को कहा

लखनऊ/तिरुवनंतपुरम : केरल के सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर शुरू हुआ विवाद लगातार ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *