Breaking News

वेंकटेश प्रसाद ने हितों के टकराव से बचने के लिए राष्ट्रीय जूनियर क्रिकेट चयन समिति के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया

नई दिल्ली: भारतीय टीम के पूर्व तेज गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद ने आज राष्ट्रीय जूनियर चयन समिति के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया. प्रसाद इस पद पर 30 महीने तक रहे और अंडर-19 विश्व कप में भारतीय टीम के विजेता बनने के एक महीने के अंदर उन्होंने यह फैसला किया. ऐसा माना जा रहा कि प्रसाद ने व्यक्तिगत कारणों से इस पद को छोड़ा है और उन्होंने कहा कि वह हितों के टकराव से बचना चाहते हैं.बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘ अभी यह स्पष्ट नहीं है लेकिन संभावना है कि वह किसी आईपीएल फ्रेंचाइज़ी से जुड़ रहे हैं. इसलिए वह हितों के टकराव के मुद्दे से बचना चाहते हैं.’’ दिलचस्प बात यह है कि प्रसाद ने छह राष्ट्रीय चयनकर्ताओं (तीन सीनियर और तीन जूनियर) में सबसे ज्यादा अंतरराष्ट्रीय मैच खेले है. प्रसाद ने 33 टेस्ट और 161 एकदिवसीय खेले है जो बाकी चयनकर्ताओं के कुल मैचों से भी अधिक है.

जब बोर्ड के कार्यवाहक अध्यक्ष सी के खन्ना से प्रसाद के इस्तीफे के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘‘ मैंने उन्हें मनाने की कोशिश की लेकिन ऐसा लगता है कि उन्होंने अपना मन बना लिया है. उनमें प्रतिभा की पहचान करने की शानदार काबिलियत है. विश्व चैंपियन बनने वाली जूनियर टीम के चयन में उनका योगदान सराहनीय रहा है.’’

 

Loading...

Check Also

बीजेपी ने यूपी के लिए स्टार प्रचारकों का किया ऐलान, लिस्ट में पीएम मोदी समेत 40 नेताओं के नाम

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी ने लोकसभा चुनाव में 2014 के नतीजे दोहराने के लिए ...