Breaking News

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह के आशीर्वाद से क्रिकेटर हरमनप्रीत कौर ने पंजाब पुलिस में बतौर उपाधीक्षक पद संभाला

चंडीगढ़। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह के लगातार प्रयासों के चलते भारतीय रेलवे से जॉब छोड़ने के बाद क्रिकेटर हरमनप्रीत कौर ने  पंजाब पुलिस में बतौर उपाधीक्षक पद संभाल लिया है। रविवार को मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और डीजीपी सुरेश अरोड़ा ने हरमनप्रीत कौर के कंधों पर पंजाब पुलिस के पारंपरिक स्टार लगाए। इस अवसर पर हरमनप्रीत ने सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह का धन्यवाद किया जिनके कारण उनका पुलिस अफसर बनने का सपना पूरा हुआ।कैप्टन ने भी हरमनप्रीत का पंजाब पुलिस में स्वागत करते हुए कहा कि उन्हें उम्मीद है कि वह आगे भी मेडल जीतकर पंजाब पुलिस का नाम रोशन करेंगी। बता दें, हरमनप्रीत का रेलवे की नौकरी को लेकर भरा गया बांड कैप्टन अमरिंदर सिंह के अनुरोध के बाद रेलवे ने माफ कर दिया था। इसके बाद हरमनप्रीत कौर का पंजाब पुलिस ज्वाइन करने का रास्ता साफ हो गया था। रेलवे ने पंजाब सरकार को एक पत्र लिखकर बताया था कि बांड समाप्त करने का मुख्यमंत्री का अनुरोध स्वीकार कर लिया गया है।

कैप्टन ने इस पर खुशी जताते हुए कहा कि राज्य को हरमनप्रीत कौर के पुलिस फोर्स में शामिल होने से गर्व महसूस हो रहा है। उनको विश्वास है कि हरमनप्रीत कौर लगातार बुलंदियों को छूती रहेगी और पंजाब का मान बढ़ाती रहेगी। दरअसल महिला क्रिकेट विश्व कप-2017 में हरमनप्रीत कौर के शानदार प्रदर्शन के बाद पंजाब सरकार ने पुलिस में डीएसपी की नौकरी का प्रस्ताव दिया था जिसे हरमन ने स्वीकार कर लिया था लेकिन रेलवे ने कहा था कि हरमनप्रीत कौर ने बांड भरा है। करार तोडऩे पर उन्हें 27 लाख रुपये जमा करवाने होंगे तभी अनापत्ति प्रमाण पत्र मिलेगा।

पंजाब पुलिस ने कहा था कि रेलवे से क्लीन चिट के बाद ही डीएसपी के पद पर वह ज्वाइन कर सकती हैं। मुख्यमंत्री ने महिला विश्व कप 2017 में शानदार प्रदर्शन के बाद पिछले साल जुलाई में हरमनप्रीत को उप-पुलिस अधीक्षक (डीएसपी) पद की पेशकश की थी। तब से इस युवा लड़की ने विभिन्न टूर्नामेंटों में कई शानदार प्रस्तुतियां दी।

Loading...

Check Also

महराजगंज जिले में सामने आया धर्म परिवर्तन का मामला, गुप्त सुचना के बाद पुलिस ने धर्म परिवर्तन कराते युवक को गिरफ्तार किया

लखनऊ-महाराजगंज : यूपी के महराजगंज जिले में धर्म परिवर्तन का एक चौंकाने वाला मामला उस समय ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *