Breaking News

गोवा में तीन दिन से हो रही बारिश के चलते अरब सागर में चक्रवाती तूफान ‘क्यार’ हुआ तेज

मुंबई: महाराष्ट्र के तटवर्ती इलाकों में चक्रवाती तूफान क्यार के चलते बहुत भारी बारिश हो सकती है। मौसम विभाग ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के चलते पालघर जिला कलेक्टर कैलाश शिंदे ने मछुआरों को समुद्र तट पर नहीं जाने की चेतवानी दी है। जिला मत्स्य अधिकारियों ने शुक्रवार को कहा कि 1411 नौकाएं समुद्र में गई थीं, जिनमें से 1,378 वापस लौट आईँ जबकि शेष 33 नौकाओं को सुरक्षित समुद्र किनारे लाने के प्रयास जारी हैं। इससे एक दिन पहले मौसम विभाग के मुंबई केन्द्र ने कहा कि अरब सागर में गहरे विक्षोभ के चलते चक्रवाती तूफान क्यार तेज हो गया है। वहीं, गोवा में शुक्रवार को लगातार तीसरे दिन बारिश के कारण आम जनजीवन अस्त-व्यस्त रहा। इसी बीच भारतीय मौसम विभाग का अनुमान है कि शनिवार को भी इतनी ही तेज बारिश होगी। मौसम विभाग के अधिकारी के अनुसार पड़ोसी राज्य महाराष्ट्र के तटवर्ती जिलों रत्नागिरी और सिंधुदुर्ग में अगले 12 घंटों में चक्रवाती तूफान ‘क्यार’ के कारण भारी बारिश होने के आसार हैं। बारिश के कारण शुक्रवार को कनकोना और मडगांव के बीच कई स्थानों पर मुंबई-गोवा राष्ट्रीय राजमार्ग पानी में डूबा रहा। मंडोवी नदी का जलस्तर बढ़ने के कारण चोराव और दीवर द्वीपों पर यातायात बाधित रहा। नदी एवं नेविगेशन विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘मंडोवी नदी का जलस्तर बढ़ने के कारण हमने इन दोनों द्वीपों से मुख्य भूमि तक फेरी सेवा अस्थायी रूप से बंद कर दी है।’ मौसम विभाग के शुक्रवार को जारी बुलेटिन के अनुसार गोवा में एक दो जगहों पर 25 और 26 अक्टूबर को भारी बारिश होने का अंदेशा है। पूर्वी केंद्रीय अरब सागर के ऊपर बन रहे कम दबाव के क्षेत्र ने 25 अक्टूबर को ‘क्यार’ चक्रवात का रूप ले लिया था।

Loading...

Check Also

सीबीआई के पूर्व चीफ को नहीं दिया गया GPF, सेवानिवृत्ति लाभ के लिए दर-दर भटक रहे हैं आलोक वर्मा

नई दिल्ली: कभी देश के सबसे ताकतवर पुलिस अधिकारी माने जाने वाले केंद्रीय जांच ब्यूरो ...