Breaking News

लोकसभा चुनाव में बीजेपी 300 सीटें जीतने में कामयाब हुई तो 40,000 के स्तर को पार करेगा सेंसेक्स

सभी एग्जिट पोल में लोकसभा चुनाव 2019 में बीजेपी के नेतृत्व वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) की जीत का अनुमान जारी किया गया है. इसका सोमवार से ही शेयर बाजार पर सकारात्मक असर देखा जा रहा है. जानकारों का मानना है कि बीजेपी यदि 300 सीटें जीतने में कामयाब हुई तो सेंसेक्स 40,000 के मनोवैज्ञानिक स्तर को पार कर जाएगा. गौरतलब है कि आजतक-एक्सिस माई इंडिया के एग्जिट पोल में बीजेपी के नेतृत्व वाले एनडीए को 339 से 365 सीटें मिलने का अनुमान जारी किया गया है.

इसके पहले अप्रैल महीने में सेंसेक्स और निफ्टी का रिकॉर्ड स्तर क्रमश: 39,487 और 11,856 था. आजतक-एक्सिस माई इंडिया के एग्जिट पोल में कांग्रेस पार्टी को 77 से 108 सीटें मिलने का अनुमान जारी किया गया है. कैपिटल एम के हेड ऑफ रिसर्च रोमेश तिवारी ने एक टीवी चैनल से कहा, ‘बीजेपी यदि 300 सीटें जीतने में कामयबा रहती है, तो मौजूदा दौर जारी रहेगा और कारोबारी समुदाय को निश्चित रूप से इस बारे में निश्चितता हासिल होगी कि सरकार की नीतियां आगे भी जारी रहेंगी.

इसका सकारात्मक असर होगा और बाजार में तेजी से सेंसेक्स नतीजों के बाद या एग्जिट पोल के बाद ही 40,000 के स्तर को पार कर सकता है. ‘कुछ जानकारों का मानना है कि बाजार 23 मई को अंतिम नतीजे आने तक बाजार में कुछ सतर्कता रहेगी. न्यूज एजेंसी के मुताबिक एपिक रिसर्च के सीईओ मुस्तफा नदीम ने कहा, ‘इस हफ्ते ऐसी घटना होने वाली है जो बाजार में लॉन्ग टर्म के लिए दिशा तय कर सकती है और धन बनाने का रास्ता सेट होगा.

चुनाव नतीजे जैसी घटनाएं आमतौर पर वर्षों तक चलने वाले ट्रेंड पैदा करती हैं.’ ग्लोबल ब्रोकरेज फर्म मॉर्गन स्टैनली का कहना है कि यदि केंद्र में स्थ‍िर सरकार बनती है तो दिसंबर, 2019 तक सेंसेक्स 42,000 का आंकड़ा पार कर सकता है. इसी तरह डॉलर के मुकाबले रुपये में भी 20 से 25 फीसदी की बढ़त हो सकती है. गौरतलब है कि कई टीवी चैनलों के एग्जिट पोल में बीजेपी-एनडीए को केंद्र में बहुमत मिलने का अनुमान जारी किया गया है. इसके बाद सोमवार को कारोबार की शुरुआत में सेंसेक्स में 750 और निफ्टी में 200 अंकों की बढ़त देखी गई.

एग्जिट पोल के पहले ही पिछले दो कारोबारी सत्र में बीएसई सेंसेक्स में 815 अंकों की बढ़त हुई है, जबकि निफ्टी में 250 अंकों की तेजी देखी गई. केंद्र में मोदी सरकार आने की उम्मीद में इस साल फरवरी से लेकर पिछले हफ्ते तक ही सेंसेक्स और निफ्टी में 10 फीसदी की बढ़त हो चुकी थी. ऐतिहासिक ट्रेंड से भी यह पता चलता है कि बाजार के लिए अनुकूल माने जाने वाले मोदी के लिए विदेशी संस्थागत निवेशक भी उत्साहित रहते हैं. मोदी के पीएम बनने से दो महीने पहले मार्च 2014 में विदेशी संस्थागत निवेशकों ने 31,663 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे थे. उनके पीएम बनने के बाद मई, 2014 में यह निवेश बढ़कर 33,778 करोड़ रुपये तक पहुंच गया.

Loading...

Check Also

2 अक्टूबर से आयकर अधिकारी सीधे नहीं भेज पाएंगे नोटिस, होगी उचित पड़तालः रविशंकर प्रसाद

अहमदाबाद: केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने आज बताया कि 2 अक्टूबर, 2019 से आयकर ...